IQNA

17:17 - July 20, 2019
समाचार आईडी: 3473801
अंतरराष्ट्रीय समूह- दीमा, दीना, सुज़ान और वरज़ान अल-शनीती चार जुड़वां फिलिस्तीनी लड़कियां हैं जो पूरे कुरान को संरक्षित करने में कामयाब रहीं।
पूरे कुरान को हिफ़्ज़ करने में फिलिस्तीन की चार जुड़वां बेटियों की सफलताIQNA की रिपोर्ट अल-जज़ीरा नेट समाचार साइटके हवाले से, यह चार-ज़ुड़वां फिलिस्तीनी लड़कियां जिनकी उम्र 18 वर्ष है, वह कब्जे वाले गाज़ा पट्टी के दक्षिण में अम तूबा गाँव के एक छोटे से घर में रहती हैं, और हाई स्कूल डिप्लोमा करने के अलावा, उच्च ग्रेड हासिल करके पूर्ण कुरान को हिफ़्ज़ करने में भी सफल रही हैं।
इन जुड़वां लड़कियों में से एक," दीना कहतती है " हमने 13 साल की उम्र में अब्दुल्ला इब्न मसूद कुरान प्रशिक्षण केंद्र में शामिल होकर कुरान की शुरुआत की थी, और 17 साल की उम्र में पूर्ण कुरान को हिफ़्ज़ करने में कामयाबी हासिल की।
दीमा भी अपनी और अपनी बहनों की कोर्स की सफलता को हिफ़्ज़े कुरान का मक़्रूज़ मानती है और कहती है कुरान ने हमें विज्ञान और समय में आशीर्वाद प्रदान किया और इस्लामी शिक्षा और अरबी भाषा के पाठ्यक्रमों में हमारी सफलता में बहुत मदद की।
अल-अक़्ससा मस्जिद इन 4 जुड़वां फ़िलिस्तीनी लड़कियों की सबसे प्रिय धार्मिक स्थानों में से एक है, जो लगातार मस्जिद जाती रहती हैं, और चिकित्सा और इंजीनियरिंग शिक्षा इन फ़िलिस्तीनी बहनों की आकांक्षाओं में से एक है।
3828223
पूरे कुरान को हिफ़्ज़ करने में फिलिस्तीन की चार जुड़वां बेटियों की सफलता
पूरे कुरान को हिफ़्ज़ करने में फिलिस्तीन की चार जुड़वां बेटियों की सफलता
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :