IQNA

अल-अहद ने लिखा
16:21 - July 21, 2019
समाचार आईडी: 3473806
अंतर्राष्ट्रीय समूह-लेबनान के अल-अहद न्यूज एजेंसी ने लिखा कि संयुक्त राज्य अमेरिका, सऊदी और इजरायल सरकार के दबाव में संघीय अदालत ने नाइजीरिया के इस्लामिक मूवमेंट के नेता शेख़ इब्राहिम ज़कज़ाकी के परीक्षण में 11 दिनों की देरी की और इस दबाव ने उनकी रिहाई को रोक दिया।

IQNA के अनुसार, अल-अहद ने सूचित स्रोतों के हवाले से लिखा है: शेख़ इब्राहिम ज़कज़ाकी की शारीरिक स्थिति 2015 में नाइजीरियाई सैनिकों के हमले और उसकी गिरफ्तारी के बाद दिन ब दिन खराब होती जारही है और बहुत खराब स्थिति में दिन गुज़ार रहे हैं।

शेख ज़कज़की ने नाइजीरिया में तीन साल की नजरबंदी में अपनी बाईं आंख की बीनाई को खो दिया है, और उनकी दाहिनी आंख में 45 प्रतिशत बीनाई बाक़ी है। गोलियों के कारण उनकी पत्नी को भी उपचार और कृत्रिम घुटने के उपयोग की आवश्यकता है।

समाचार सूत्रों ने कहा है कि नाइजीरियाई अदालत ने ज़कज़की की रिहाई को देश के भीतर उनके इलाज की शर्त पर स्वीकार कर लिया है, लेकिन कुछ रिपोर्टें विदेशों में उनके स्थानांतरण की संभावना को भी इंगित करती हैं - विशेष रूप से तुर्की - अगर अदालत द्वारा सहमति व्यक्त की जाती है।

नाइजीरिया की संघीय अदालत ने एक साल पहले शेख़ ज़कज़की और उनकी पत्नी की रिहाई का आदेश $ 120 का भुगतान करने के बदले जारी किया था, जबकि संघीय अदालत के फैसले को अभी तक लागू नहीं किया गया है, और शेख़ ज़कज़की नाइजीरिया सरकार पर संयुक्त राज्य अमेरिका, सऊदी अरब और इज़राइल के दबाव के कारण उसी तरह जेल में है।

उल्लेखनीय है कि नाइजीरिया की सेना ने 12 दिसंबर 2015 को नाइजीरिया के काडूना राज्य के ज़ारिया शहर में "बक़ीयतुल्लाह" हुसैनिया पर हमला किया और इस शहर में शियाओं को बड़ी संख्या में नरसंहार किया। शेख़ इब्राहिम ज़कज़की और उनकी पत्नी भी नाइजीरियाई सेना द्वारा घायल होने के बाद से अब तक हिरासत में हैं

3828665

नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :