IQNA

15:36 - July 22, 2019
समाचार आईडी: 3473808
अंतर्राष्ट्रीय समूह- तुर्की की पुस्तकों और ऐतिहासिक स्रोतों की मरम्मत कार्यशालाओं में से एक में 455 साल पहले पुराने एक क़ुरान संस्करण का पुनर्निर्माण किया जा रहा है।

«तुर्क प्रेस» समाचार साइट के हवाले से IQNA की रिपोर्ट,तुर्की ऐतिहासिक पुस्तकों की पुनर्स्थापना के विशेषज्ञ अहमद क़ूरनाज़, तुर्की के इस पुराने क़ुरान संस्करण की मरम्मत का काम अपने ज़िम्मे ले लिया है।

तुर्की अभिलेखागार के दस्तावेज़ीकरण के अनुसार, इस 455 साल पुराने मुस्हफ़ की जिल्द चमड़े की प्राकृतिक सोने से बनी है जो 1 जुलाई, 1816 को ख़ादिमा दिलसाज़ा उस्मानी राजा सुल्तान महमूद द्वितीय की पत्नि द्वारा उस्मानी महलों के लिए एक उपहार के रूप में दान किया गया था।

तुर्की के ऐतिहासिक सूत्र बताते हैं कि इस ऐतिहासिक मुस्हफ़ की किताबत अली नाम के एक सुलेखक के हाथों 10 फरवरी, 1564 को समाप्त हुई, जिसे "अबुल्हसन अल-असीली" के रूप में जाना जाता था।

क़ूरनाज़ ने इस ऐतिहासिक मुस्हफ़ की मरम्मत की व्याख्या करते हुए बताया कि वह क़ुरआन के इस संस्करण की मरम्मत के लिए प्रतिदिन लगभग 5 से 6 घंटे तक लगे रहते हैं, और यह ऐतिहासिक कार्यों और पुस्तकों को पुनर्स्थापित करने के लिए सुखद है। 

उन्होंने कहा कि मैं 6 महीने पहले से, इस ऐतिहासिक मुस्हफ़ को पुनर्स्थापित कर रहा हूं, और यह अब अंतिम चरण में पहुंच गया है। मरम्मत के पूरा होने के बाद, इस पुराने मुस्हफ़ को तुर्की के राष्ट्रीय पैलेस प्रशासन से संबद्धित संग्रहालयों में से एक में पहुँचा दिया जाएगा।

3828979

नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :