IQNA

16:06 - July 23, 2019
समाचार आईडी: 3473812
अंतर्राष्ट्रीय समूहः फिलिस्तीन इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन (हमास) के राजनीतिक ब्यूरो के उपाध्यक्ष सालेह आरुरी ने सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव अली शमखानी के साथ मुलाकात की।

अंतर्राष्ट्रीय कुरआन समाचार एजेंसी (IQNA) ने फिलिस्तीनी सूचना केंद्र के अनुसार बताया कि शामखानी ने जोर देकर कहा कि अरब प्रतिक्रियावादी साजिश ईरान और फिलिस्तीनी प्रतिरोध के बीच एक खाई बनाने में विफल रही।
उन्होंने कहा कि फिलिस्तीनी लोगों की इच्छा के विपरीत नकली योजना नतीजे पर नहीं पहुचेग़ी।
शमखानी ने कहा कि फिलिस्तीन के समर्थन का मूल सिद्धांत इस्लामिक रिवोल्यूशनरी गार्ड्स था और यह अपहरणकर्ताओं के खिलाफ प्रतिरोध की पूरी जीत हासिल करना जारी रखेगा।सुप्रीम कोर्ट था, और यह बच्चे के रहने वालों के खिलाफ प्रतिरोध की जीत को पूरा करना जारी रखेगा।
दूसरी ओर सालेह आरुरी ने यह भी तर्क दिया कि इस्लामी गणतंत्र के साथ अमेरिका और ज़ायोनी शत्रुता और प्रतिबंधों और धमकियों का उपयोग ईरान फिलिस्तीनी कारण का समर्थन करने में बाधा नहीं ड़ाल पाएग़ा।
 आरुरी ने यह भी कहा कि प्रतिरोध के आंदोलन और हमास के आंदोलन के प्रतिनिधियों के रूप में हमने इस्लामी गणतंत्र ईरान के साथ अपनी एकजुटता को जोड़ा है । ईरान के खिलाफ कोई भी शत्रुतापूर्ण कार्रवाई वास्तव में फिलिस्तीनियों और प्रतिरोध की वर्तमान के खिलाफ एक शत्रुतापूर्ण कार्रवाई है, और हम ईरान का समर्थन करने में सबसे आगे हैं।
3829462

नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :