IQNA

15:38 - August 03, 2019
समाचार आईडी: 3473842
अंतर्राष्ट्रीय समूह - रोहिंग्या कार्यकर्ताओं ने रोहिंग्या शरणार्थियों और म्यांमार सरकार के बीच संवाद को प्रोत्साहित करने के लिए दक्षिण पूर्व एशियाई देशों (आसियान) के प्रयासों की आलोचना की, उन पर शरणार्थियों के खिलाफ म्यांमार सेना के अपराधों की उपेक्षा करने का आरोप लगाया।
अल जज़ीरा के अनुसार IQNA की रिपोर्ट;पिछले हफ्ते, आसियान का एक प्रतिनिधिमंडल म्यांमार सरकार के प्रतिनिधियों के साथ मिला और उनसे विस्थापितों की वापसी पर रोहिंग्या कार्यकर्ताओं और नेताओं के साथ बातचीत शुरू करने के लिए चर्चा की।
 
रोहिंग्या कार्यकर्ताओं ने म्यांमार से बात करने की कोशिश की आलोचना की और इसको म्यांमार में मुसलमानों के खिलाफ अत्याचारों को आसियान की ओर से अनदेखी का संकेत और इन अपराधों पर ऐक तरह का कवर-अप बताया।
 
वे रोहिंग्या शरणार्थियों की पीड़ा को समाप्त करने के लिए कार्रवाई करने से आसियान के इनकार से भी नाखुश हैं।
 
बांग्लादेश के कॉक्स बाजार में विस्थापितों के ऐक शिविर में जाने वाले आसियान सदस्यों के साथ आयोजित बैठक में एक रोहिंग्या कार्यकर्ता ने उनसे पूछा कि आपने अब तक शिविर में रहने वाले 128 हज़ार रोहिंग्या समुदाय के क्या काम किया है इस मंच के सदस्यों में से ऐक ने कहा: हम आपकी सभी समस्याओं को हल करने के लिए यहां नहीं आऐ हैं।
 
वर्ष 2017 में पश्चिम म्यांमार में राखीन प्रांत में मुसलमानों के साथ झड़पों और हत्याओं के बाद 730 हज़ार से अधिक रोहिंग्या शरणार्थी बांग्लादेश भाग गए, और उनमें से अधिकांश अब कॉक्स बाज़ार शिविरों में रह रहे हैं।
 3831940
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :