IQNA

16:05 - August 19, 2019
समाचार आईडी: 3473892
इंटरनेशनल ग्रुप- हाल ही में कजाकिस्तान में स्थापित इस्लामिक कल्चर के संग्रहालय में विभिन्न भाषाओं के डिजिटल कुरान के संस्करण उपलब्ध है व सुरक्षा की जारही है।

IQNA की रिपोर्ट इस्लामिक संस्कृति का पहला संग्रहालय, जिसे हलीफा अल्ताई कहा जाता है, पिछले सप्ताह पूर्वी कजाखस्तान प्रांत की केंद्रीय मस्जिद में ईद अल-अज़हा पर खोला गया था, जिसमें विभिन्न कलाकृतियां संरक्षित थीं।
इस्लामी इतिहास के साथ,यह  संग्रहालय क़जाख़ राष्ट्र की परंपराओं और रीति-रिवाजों को प्रस्तुत करता है, जहां कुरान का इलेक्ट्रॉनिक संस्करण कजाख, अरबी, अंग्रेजी और रूसी भाषाओं में उपलब्ध है।
 
कजाकिस्तान में ईरानी सांस्कृतिक सलाहकार के अनुसार, पूर्वी कजाकिस्तान के गवर्नर दानियाल अहमदोव ने अपने फेसबुक पेज पर यह पोस्ट करते हुए लिखा: "संग्रहालय में कई खंड हैं, जिनमें कजाखस्तान की भूमि में इस्लाम के उद्भव और संवर्धन से संबंधित और आज के इस्लामिक खंड शामिल हैं। कैम्ब्रिज, इंग्लैंड और तुर्की विश्वविद्यालय से प्राप्त एक सौ और दो सौ साल पुरानी किताबें, जैसे कि अहमद यासावी के दीवाने हिकमत की पांडुलिपि (एक तुर्की कवि और कवि और यसवी के संस्थापक) और दास्ताने उग़ूर नामा (दह दह क़ोर क़ोर), लोगों की नज़र के सामने हैं। ।
उन्होंने यह भी कहा: क़जाख़स्तान के पुराने शहर एटलाख़ व काबा की प्रतिकृति को पूर्वी कजाकिस्तान में संग्रहालय ऑफ इस्लामिक कल्चर में प्रदर्शित किया गया है।
3836101
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :