IQNA

तेहरान में मुहम्मद रसूलुल्लाह (PBUH) मस्जिद को अली अकबर अंसारी ने एक हजार वर्ग मीटर भूमि पर बनाया था।यह मस्जिद भाइयों और बहनों के लिए दो मुख्य हाल, दार अल-कुरान की दो मंजिलें, एक पुस्तकालय और रसोईघर पर शामिल हैं। इस शानदार मस्जिद की वास्तुकला इस्फ़हान की मस्जिदे जामेअ के अत्याधुनिक प्लास्टर से प्रेरित है। इस शानदार मस्जिद के अन्य आकर्षण इसके एकीकृत कालीन हैं और पूरे मस्जिद में 500 मीटर चौड़ी गलीचा है जो ईरान की सभी मस्जिदों के लिए अद्वितीय है। मस्जिद और उसके गुंबद के स्तंभ और मुखौटे पवित्र पैगंबर की मस्जिदे ख़ज़रा के समान हैं और इसके झाड़ और आभूषण पैगंबर के मस्जजिद के समान हैं। यह याद रहे कि मस्जिद को 21 अगस्त 1969 को ज़ायोनी द्वारा जला दिया गया था जिसमें लगभग 1500 वर्ग मीटर क्षेत्र जल गया था। इस दिन, ईरान के सुझाव पर, इस्लामी सहयोग संगठन के कैलेंडर में "विश्व मस्जिद दिवस" के रूप में नामित किया गया है और ईरान में मस्जिद सप्ताह की शुरुआत का प्रतीक है। इस सप्ताह हम ने बहुत पहले से मस्जिद वास्तुकला पर एक नज़र डाला है।