IQNA

15:35 - September 11, 2019
समाचार आईडी: 3473961
अंतर्राष्ट्रीय समूह - आशूरऐ हुसैनी के साथ, श्रीलंका की राजधानी कोलंबो में तमिल भाषा के समाचार पत्र थिनाकारान«Thinakaran» ने एक लेख "इमाम हुसैन (अ.स) और मुहर्रम का महीना" शीर्षक के साथ प्रकाशित किया।

इस्लामिक संस्कृति और संचार संगठन के अनुसार IQNA की रिपोर्ट; इस लेख में आयया है कि, मुवियाह ने इमाम हुसैन (अ.स)से अपने बेटे यज़ीद के प्रति निष्ठा की मांग की ताकि वह इस्लाम और पैगंबर मुहम्मद (PBUH) के धर्म के विपरीत कृत्यों को कवर कर सके। लेकिन इमाम हुसैन (अ.स.) ने न केवल ऐसा करने से इनकार कर दिया, बल्कि इस साजिश का विरोध किया।
 
आखिरकार, इस प्रतिरोध के कारण बनी उमैयद वाहिनी के साथ वर्ष 61H में मुहर्रम के दसवें दिन सैन्य संघर्ष और उनकी शहादत हुई। इमाम हुसैन(अ.स) द्वारा कर्बला के वाक़ऐ में क्रूरता को क़ुबूल न करना और स्वतंत्रता की चाहत दुनिया के मुक्त लोगों के लिए एक प्रतिमान है।
3841416
नाम:
ईमेल:
* आपकी टिप्पणी :